Latest news

न कर्म से भागना उचित है न फल की आशा करना उचित है ।नवजीत भारद्वाज

जालंधर (एस के वर्मा ) : श्री कृष्ण जन्माष्टमी,श्री गुगा नवमी एवं वीरवारीय सप्ताहिक के अवसर पर मां बगलामुखी धाम लम्मा पिंड चौक से होशियारपुर रोड़ पर स्थित गुलमोहर सिटी में धाम के संस्थापक एवं संचालक नवजीत भारद्वाज की अध्यक्षता में साप्ताहिक मां बगलामुखी हवन यज्ञ करवाया गया। सबसे पहले पं. पिंटू शर्मा एवं पंडित अविनाश गौतम ने नवग्रह, पंचोपचार, षोढषोपचार,गौरी, गणोश,कुंभ पूजन, मां बगलामुखी जी के निमति माला जाप उपरांत विधिवत मां बगलामुखी जी का पूजन किया। इस यज्ञ में उपस्थित मां भक्तो को आहुतिया डलवाने के बाद नवजीत भारद्वाज ने श्री कृष्ण भगवान के उपदेशो के बारे में बताया कि आपका तो कर्म करने में ही अधिकार है, उसके फलों में नहीं। क्योंकि, फल तो ईश्वर के हाथ में है। इसलिए न कर्म से भागना उचित है और न ही कर्म के फल की आशा करना उचित है।                             महाभारत काल में भगवान श्रीकृष्ण की कही ये बातें आज भी उतनी ही मत्वपूर्ण हैं, जितनी उस दौर में थीं। इस श्लोक के अनुसार हमें भी किसी भी स्थिति में कर्म से भागना नहीं चाहिए। आजकल अधिकतर लोग कर्म करने से पहले ही उससे मिलने वाले फल के बारे में सोचते हैं। जब आशा के अनुरूप फल नहीं मिलते हैं तो निराशा होती है। इसीलिए कर्म करो, लेकिन फल की इच्छा मत करो। यही श्रीकृष्ण की सीख है। कर्म का फल कैसा मिलेगा, ये भगवान पर छोड़ देना चाहिए। जो लोग धर्म के अनुसार काम करते हैं, भगवान का स्मरण करते हैं, उन्हें सफलता जरूर मिलती है। हवन यज्ञ के दौरान सोशल डिस्टेंस एवं सैनेटाइज़ेशन का खा़स ध्यान रखा गया। आरती उपरांत प्रसाद रूपी लंगर भंडारे का भी आयोजन किया गया

Subscribe us on Youtube

 


 



 

Jobs Listing

Required Marketing executive to sale Advertisement packages of reputed reputed media firms of Punjab.

Read More


Leave a Reply