Latest news

पंजाब की सबसे सुरक्षित जेल की खुली पोल

An open pole of the safest jail in Punjab

  • पेटीएम से जेल में बंद गैंगस्टर राजीव राजा के पास पहुंचता था रंगदारी का पैसा।
  • गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों से हथियार और चोरी के वाहन हुए बरामद।
  • हरियाणा या मध्यप्रदेश में जाते समय रास्ते से राजा को थी छुड़वाने की साजिश।

लुधियाना के प्रतिष्ठित ज्वैलर्स की हत्याएं करने के बाद तहलका मचाने वाले गैंगस्टर राजीव राजा को उसके गुर्गे बुकियों से पैसे लूटने के बाद पेटीएम के जरिए नाभा जेल भेजते थे। हाई सिक्योरिटी जेल नाभा में गैंगस्टर राजीव राजा फोन के जरिए पैसा मंगवाता था। वह उसी पैसे से अपने साथियों को यूपी और मध्यप्रदेश से हथियार खरीद करवाता था। इन सभी बातों का खुलासा गिरफ्तार किए गए उसके चार साथियों से हुआ है। 

थाना डिविजन तीन की पुलिस ने गैंगस्टर राजीव राजा के चार साथियों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान राजन उर्फ राजा, गुरविंदर सिंह उर्फ गुरी, सुखचैन सिंह उर्फ चैना और रेशम सिंह उर्फ मनी के रूप में हुई है। राजा के बाद गिरोह को चलाने वाले मुख्य आरोपी विजय कुमार पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों के कब्जे से 32 बोर की रिवाल्वर, दो मैगजीन और नौ कारतूस, 315 बोर की तीन रिवाल्वर दस कारतूस, चोरी की सेंट्रो कार, एक्टिवा और गाड़ियों की आगे और पीछे की नंबर प्लेट बरामद की है।  

एडीसीपी वन गुरप्रीत सिंह सिकंद और एसीपी सेंट्रल वरियाम सिंह ने बताया कि गैंगस्टर राजीव राजा इस समय हत्या के एक मामले में नाभा जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है। फरार आरोपी विजय कुमार, गुरी, चैना और मनी की मुलाकात गैंगस्टर राजा के साथ जेल में हुई थी। गैंगस्टर राजा ने आरोपियों के साथ जेल में पूरी प्लानिंग बनाई कि उसे किसी तरह से जेल से बाहर निकलना है। 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *