Latest news

एंटी लारवा सैल ने शहर में 44 डेंगू लारवा केसों की पहचान की

Anti larvae cells identified 44 dengue larvae cases in the city
जालंधर (Sandip Varma ):
तंदुरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत पानी से पैदा होने वाली बीमारियों की रोकथाम के लिए चलाई गई विशेष जांच मुहिम के अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग के लारवा विरोधी सैल ने शहर के 13 स्थानों पर 44 डेंगू के लारवा की पहचान की ।एंटी लारवा सैल के पवन कुमार, जसविंदर सिंह, सरबजीत, गुरविंदर सिंह, विनोद कुमार, प्रदीप कुमार,सतवंत सिंह, जसविन्दर सिंह, सतवंत सिंह, शक्ति गोपाल  राजविंदर सिंह के नेतृत्व में सैल ने गुरबचन नगर, दादा कॉलोनी, जोगिंदर नगर, मिठू बस्ती, न्यू गोपाल नगर, राज नगर, हरदयाल नगर, जिंदा रोड, बूटा मंडी और बस्ती गुज़ा में विशेष जाँच की।एंटी लारवा सैल के पवन कुमार, जसविंदर सिंह, सरबजीत, गुरविंदर सिंह, विनोद कुमार, प्रदीप कुमार, शेर सिंह, सतपाल, कमलदीप, सतवंत सिंह, राम और राजविंदर सिंह ने शहीद भगत सिंह कॉलोनी, सायपुर, संजय गांधी नगर, संतोखपुरा, लंबा पिंड, बस्ती दानिशमंदान, सूरजगंज, नूरपुर, चक जिंदा, दशमेश नगर, छोटी बारादरी और जिंदा रोड में विशेष चेकिंग की।जांच के दौरान टीम ने 706 घरों का दौरा करके 2968 जनसखंया वाली जगह को कवर करते हुए 873खराब कंटेनरों,286 कूलर पाए। टीम ने नूरपुर, शहीद भगत सिंह कॉलोनी , जिंदा रोड पर 7 चालान किए । टीम ने 2000 क्लोरीन की गोलियाँ बाँटी ।टीम सदस्यो ने निवासियों को बताया कि डेंगू, मलेरिया, और अन्य बीमारियों को फैलाने के लिए सूखे पडे कूलर, कंटेनर मच्छरों के प्रजनन स्थल के रूप में काम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य मच्छरों के लारवा के उत्पादन के लिए संवेदनशील स्थानों की पहले से पहचान करना है उन्होंने कहा कि यह विशेष जाँच तंदरूस्त पंजाब के मिशन के तहत ड्राइव का हिस्सा है ,ताकि यह पहले से ही पता लगाया जा सके कि पानी से होने वाली बीमारियों को अच्छी तरह से जांचा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *