कलर टीवी चैनल पर प्रसारित किए जा रहे सीरियल “राम-सिया के लव कुश” पर पाबंदी लगाने के लिए वाल्मीकि समाज द्वारा किये गए पंजाब बंद के दौरान लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। भगवान वाल्मीकि के सम्मान के लिए सड़कों पर उतरे हज़ारों लोगों में कुछ ऐसे प्रदर्शनकारी भी नजर आये जिन्होंने कई जगह जमकर गुंडागर्दी की। पुलिस प्रशासन की तरफ से आम जनता की सुरक्षा के किये गए बड़े बड़े दावे खोखले साबित हुए।
मामला ज्योति चौक के पास पड़ती सब्जी मंडी का है यहां थाना नम्बर 4 की दीवार के साथ पड़ती वाल्मीकि समुदाय के एक सब्जी विक्रेता की दुकान पर वाल्मीकि समुदाय के ही दर्जन भर लोगों ने तलवारों से हमला कर सब्जी की दुकान को पूरी तरह से तहसनहस कर डाला।
पीड़ित सब्जी विक्रेता ने बताया आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने दुकान में घुस कर सब्जी के क्रेड उठाकर बाहर पटक दिए व पेसो के गल्ले से 1500 रुपये व दो फ़ोन उठाकर भाग गए।
यहां बड़ा सवाल यह है कि सब्जी वाली दुकान और थाना नम्बर 4 की सांझी दीवार है। ज्योति चौक में भी भारी पुलिस तैनात थी इस के बावजूद प्रदर्शनकारियों के होंसले इस कदर बुलन्द नजर आए कि उन्होंने जमकर गुंडागर्दी व लूटपाट की

ਪ੍ਰਦਰਸ਼ਨਕਾਰੀਆਂ ਨੇ ਵਾਲਮੀਕਿ ਭਾਈਚਾਰੇ ਦੇ ਹੀ ਦੁਕਾਨਦਾਰ ਨੂੰ ਲੁੱਟ ਲੁੱਟਿਆ ਤੇ ਕੁਟਿਆ
The protesters threw rocks at the Valmiki community shop

ਜਲੰਧਰ ‘ਚ ਪੁਲਸ ਡੰਡੇ ਫੜ ਕੇ ਖੜ੍ਹੀ ਰਹੀ ਤੇ ਪ੍ਰਦਰਸ਼ਨਕਾਰੀ ਮਾਰੂ ਹਥਿਆਰ ਲੈ ਕੇ ਘੁੰਮਦੇ ਰਹੇ
Jalandhar police stabbing and protesters roam with deadly weapons
ਸੱਤਾਧਾਰੀ ਪਾਰਟੀ ਦੇ ਸਿਆਸੀ ਨੇਤਾਵਾਂ ਨੇ ਨਹੀਂ ਲਈ ਕਿਸੇ ਦੀ ਸਾਰ

Post Views: 363