Latest news

अरमान, ऑर्थोनोवा, ऑर्थोकेयर समेत 100 अवैध अस्पतालों के खिलाफ न्याय मोर्चा ने मेयर को सौंपा ज्ञापन

Memorandum handed over to the mayor against 100 illegal hospitals including Arman, Orthonova, orthocare
15 दिन का दिया अल्टीमेटम, कार्रवाई नहीं हुई तो बजेगा निगम का ढोल
जालंधर : sandip
शहर में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे अरमान हॉस्पिटल, ऑर्थोनोवा हॉस्पिटल एचपी ऑर्थो केयर हॉस्पिटल और मित्तल हॉस्पिटल समेत लगभग 100 से भी अधिक अस्पतालों के खिलाफ न्याय मोर्चा पंजाब ने मोर्चा खोल दिया है| इन सभी अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर आज न्याय मोर्चा पंजाब ने मेयर जगदीश राज राजा से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा| ज्ञापन में  अल्टीमेटम दिया गया है कि अगर 15 दिनों के भीतर इन अवैध अस्पतालों पर कार्रवाई नहीं की गई तो न्याय मोर्चा नगर निगम का ढोल बजाएगा| सड़क पर जुलूस निकालकर विरोध प्रदर्शन करेंगे.
मोर्चा के प्रधान मंगा ओबरॉय, महासचिव राजू पहलवान पंजाब युवा मोर्चा प्रधान पुनीत शर्मा उर्फ पुन्नू और सचिव यूसुफ कल्याण ने संयुक्त रूप से बताया कि शहर में लगभग 100 से भी अधिक अस्पताल ऐसे हैं जो बिना कंपलीशन सर्टिफिकेट के अवैध रूप से संचालित किए जा रहे हैं| इनमें से कई अस्पताल ऐसे हैं जो 3 मंजिल से अधिक मंजिलों में बने हुए हैं| कई अस्पताल ऐसे हैं जिनके पास पार्किंग ही नहीं है और कुछ अस्पताल ऐसे हैं जिन्होंने पार्किंग के लिए बनाई गई बेसमेंट में वार्ड बना डाले हैं एवं मरीज भर्ती किए जा रहे हैं। कई अस्पताल ऐसे हैं जिन्होंने सरकारी फुटपाथ पर ही कब्जा कर लिया है| इनमें से कई अस्पतालों को नगर निगम की ओर से नोटिस भी जारी किए गए थे लेकिन उसके बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई और मामला ठंडे बस्ते में चला गया| यह अस्पताल मरीजों से इलाज के नाम पर मनमाने पैसे वसूल रहे हैं लेकिन मरीजों की जान कि इन्हें कोई परवाह नहीं है| उन्होंने कहा कि 5-6 मंजिला बनाए गए अस्पतालों की ऊपरी मंजिल पर वार्ड बनाए गए हैं अगर इन वार्डों में कोई हादसा हो जाए तो इन मरीजों की जान बचाना भी नामुमकिन हो जाएगा| नगर निगम के बिल्डिंग ब्रांच के कुछ भ्रष्ट अधिकारियों की मेहरबानी से यह अस्पताल बिना नक्शा पास कराए संचालित किए जा रहे हैं| कुछ अस्पताल कॉमर्शियल नक्शे पर चलाए जा रहे हैं तो कुछ रेजिडेंशियल नक्शे पर ही संचालित किए जा रहे हैं| अस्पताल मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ तो कर ही रहे हैं, नगर निगम के राजस्व को करोड़ों रुपए की चपत भी लगा रहे हैं| इतना ही नहीं मरीजों से यह अस्पताल प्रतिदिन का फाइव स्टार होटल से भी अधिक का किराया वसूल कर रहे हैं| एक तरफ धन के अभाव में शहर का विकास प्रभावित हो रहा है और दूसरी तरफ ऐसे अस्पतालों से राजस्व वसूली की तरफ नगर निगम का कोई ध्यान नहीं है| उन्होंने कहा कि इन अस्पतालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए और इन्हें सील किया जाना चाहिए साथ ही इनमें मरीजों से जो पैसे वसूले गए हैं उन्हें भी अस्पताल प्रबंधन वापस करें| उन्होंने कहा कि हम पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सरकार से और नगर निगम से यह मांग करते हैं कि जल्द ही इन अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए. अगर 2 सप्ताह के अंदर इन अस्पतालों को संरक्षण देने वाले बिल्डिंग इंस्पेक्टर, एटीपी, एमटीपी समेत अन्य भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो सोए हुए नगर निगम को जगाने के लिए 2 सप्ताह बाद न्याय मोर्चा ढोल बजाकर जुलूस निकालेगा और सड़क से लेकर निगम कार्यालय तक विरोध प्रदर्शन करेगा|
 मंगा ओबरॉय ने बताया कि शहर में अरमान हॉस्पिटल, ऑर्थोनोवा अस्पताल, एचपी ऑर्थो केयर अस्पताल, जोशी हॉस्पिटल, मित्तल हॉस्पिटल, सर्वोदय हॉस्पिटल, लाल पैथ लैब, बल हॉस्पिटल, दोआबा अस्पताल टैगोर अस्पताल, जोशी अस्पताल सहित लगभग 100 से भी अधिक ऐसे अस्पताल हैं जिनके खिलाफ नगर निगम के अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। इस मौके पर मंगा ओबरॉय, राजू पहलवान, पुनीत शर्मा पुन्नू, यूसुफ कल्याण, विशाल अटवाल, रोहित थापर, विजय अटवाल, सन्नी अरोड़ा आदि मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *