Latest news

खेतीबाड़ी और किसान भलाई विभाग की वैंनों ने ज़िले के 525 गाँवों के किसानों को पराली न जलाने के लिए किया जागरूक

जालंधर (एस के वर्मा ): डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी की तरफ से 6 अक्तूबर को हरी झंडी दिखा कर रवाना की गई तीन जागरूकता वैनों ने गुरूवार को जिले के 525 गाँवों को कवर करते हुए किसानों को पराली न जलाने के लिए जागरूक किया। कृषि और किसान भलाई विभाग की इस पहलकदमी को जिले के किसानों द्वारा भरपूर प्रोत्साहन दिया जा रहा है। इन वैनों के द्वारा आडियों संदेश चलाए जा रहे हैं जिससे किसानों को पराली जलाने के बुरे प्रभावों के बारे में जागरूक करने को यकीनी बनाया जा सके। मुख्य कृषि अधिकारी डा. सुरिन्दर सिंह ने बताया कि साफ़ -सुथरे, हरे -भरे और प्रदूषण मुक्त वातावरण का संदेश ज़मीनी स्तर तक पहुँचाने के लिए इन वैनों की तरफ से ज़िले के समूचे गाँवों को कवर किया जायेगा। उन्होंने बताया कि वैन के स्टाफ की तरफ से जहाँ गाँव निवासियों को पैंफलैट्ट बाँटे जा रहे हैं वहीं वैन पर लगीं फ्लैक्स शीटों और बैनरों के द्वारा भी जागरूकता फैलाई जा रही है। उन्होंने आगे बताया कि इस के इलावा किसानों को पराली की उचित संभाल से सम्बन्धित जागरूक करने के लिए विभाग के कर्मचारियों के द्वारा हरेक गाँव के गुरुद्वारा साहिब से रोजाना सुबहा -शाम अनाऊंसमैंट भी करवाई जा रही है।
डा. सिंह ने आगे बताया कि गाँवों में पराली के सभ्यक प्रबंधन का संदेश देने के लिए स्कूली विद्यार्थियों का सहयोग भी लिया जायेगा। इस मकसद के लिए स्कूलों में बच्चों के लेख रचना , पेंटिंग आदि मुकाबले करवाए जाएंगे और पहले दूसरे और तीसरे नंबर ऊपर आने वाले विद्यार्थियों को इनामों के साथ नवाजा जायेगा।
मुख्य कृषि अधिकारी ने बताया कि कराप रैज़ीड्यू मैनेजमेंट स्कीम अधीन ज़िले के समूह गाँवों में 900 वाल पेंटिंग भी करवाई जा रही हैं, जिन के द्वारा किसानों को पराली को आग न लाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने जिले से पराली जलाने के रुझान को पूरी तरह ख़त्म करने के लिए किसानों से सहयोग की माँग की।